Home राष्ट्रीय न्यूज फॉक्सवैगन ने 2018 वर्टुस का खुलासा किया

फॉक्सवैगन ने 2018 वर्टुस का खुलासा किया

by कार डेस्क
Published: Last Updated on

फॉक्सवैगन, जर्मन कार निर्माता, ने अंततः वर्टुस सेडान का खुलासा किया। यह भारत की तरह कई कार बाजारों में वेंटो की जगह आ रही है। 2018 फॉक्सवैगन वर्टुस एमक्यूबी-आधारित पोलो पर आधारित है। नई मॉडल साओ पाउलो, ब्राजील में अपनी वेश्विक डेब्यू करेगी।

वर्टुस, एमक्यूबी ए0 प्लेटफॉर्म पर आधारित है, जिसपर वीडब्ल्यू लाइनअप की कई अन्य कारें भी आधारित है। वर्टुस, लगभग नए पोलो की तरह दिखती है, खासकर बी पिलर तक। वेंटो के समान, वर्टुस के बूट को अच्छे से एकीकृत किया गया है, जो की मूल रूप से हैचबैक डिजाइन है। फॉक्सवैगन वर्टुस का व्हीलबेस 2.65 मीटर है और यह 4.84 मीटर लंबी है। वेंटो की तुलना में, नई सेडान 450 मिमी लंबी है। नई सेडान 521-लीटर की बूट स्पेस प्रदान करती है।

डैशबोर्ड, पोलो से लिया गया है। इसमें वीडब्ल्यू का सक्रिय सूचना डिजिटल डिस्प्ले होगा, जो की पारंपरिक डायल के बदले मूल रूप से 10.25 इंच की स्क्रीन है। केंद्र-कंसोल में इंफोटेंमेंट सिस्टम के लिए 8 इंच की टचस्क्रीन इकाई है, जो की मिररलिंक, ऐप्पल कारप्ले और एंड्रॉइड ऑटो को सपोर्ट करती है।

वर्टुस कई इंजन विकल्पों के साथ आएगी। 200 टीएसआई मूल रूप से 1.0 लीटर टीएसआई टर्बोचार्ज्ड पेट्रोल इंजन है, जो की इथेनॉल का उपयोग करते समय 128 एचपी और पेट्रोल का उपयोग करते समय 115 एचपी की अधिकतम पावर का उत्पादन करता है। इंजन 200 एनएम की अधिकतम टॉर्क का उत्पादन करता है।

इसके अलावा, सेडान 162 एनएम की टॉर्क और 117 एचपी की अधिकतम पावर के साथ 1.6 लीटर पेट्रोल इंजन भी पेश करेगी। 200 टीएसआई मोटर 6 गति डुअल क्लच ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन के साथ मेटिड आती है, जबकि 1.6 लीटर इंजन 5 गति हस्तचालित गियरबॉक्स के साथ मेटिड आती है। भारत के लिए, सेडान 6 गति हस्तचालित ट्रांसमिशन के साथ 1.5 लीटर टर्बोचार्ज वाले डीजल इंजन की पेशकश करेगी।

लॉन्च

भारत के लिए वर्टुस एमक्यूबी प्लेटफॉर्म पर आधारित नहीं होगी। इसके बदले यह लागत को कम रखने के लिए मौजूदा प्लेटफ़ॉर्म के संशोधित संस्करण का उपयोग करेगी। आधिकारिक लॉन्च की तारीख के बारे में अभी कुछ ज्ञात नहीं है, लेकिन 2019 के मध्य में लॉन्च होने की संभावना है।