Home टिप्स अगर आप भी हैं कार Beginner तो अपनाएं ये बेस्ट टिप्स

अगर आप भी हैं कार Beginner तो अपनाएं ये बेस्ट टिप्स

by Rachna Jha
कार Beginner

यदि आप भी कार Beginner हैं या फिर कार चलाना सीख रहे हैं तो यह जानकारी आप ही के लिए है। क्योंकि हम आपको कुछ ऐसे खास टिप्स के बारे में बताने जा रहे हैं; जिससे कि कार चलाना आपके लिए आसान हो जाएगा। तो चलिए, चर्चा को आगे बढ़ाएं:-

फ्रंट सीटों पर एयरबैग लगाना हुआ अनिवार्य

फीचर्स जानें:-

सबसे पहले तो आपको, अपनी कार के फीचर्स की पूरी जानकारी होनी चाहिए। क्लच, ब्रेक, गियर आदि को किस प्रकार नियंत्रण में रखना है। यानि कि कब -किसका प्रयोग करना है; यह आपको बेहतर तरीके से पता होना चाहिए।

सीटींग पोजीशन:-

आपको अपने पोश्चर पर ध्यान देना चाहिए। आराम से व कमर सीधी करके ड्राइविंग सीट पर बैठना चाहिए। साथ ही, इस प्रकार की पोजीशन रखें कि आपको व्यू अच्छी मिल सके और कार चलाने में सहूलियत हो।

सीटींग पोजीशन

एक नज़र यातायात नियम और शिष्टाचार पर

व्यू मिरर:-

प्रायः कार Beginners शुरू में कार ड्राइव करते वक़्त सामने की ओर ज्यादा ध्यान देते हैं। पर, आपको पता होना चाहिए कि गाड़ियां तो साइड से भी आती हैं और आपकी कार के पीछे भी होती है। इसलिए, आपको रियर मिरर व विंग मिरर का भी प्रयोग जरूर करना चाहिए। ताकि हर तरफ से आने वाली गाड़ियों पर आपकी नज़र बनी रहे।

व्यू मिरर:

कूल रहना:-

हमेशा कार ड्राइव करते वक़्त कूल रहें। क्योंकि जल्दीबाजी करने से आपका कंट्रोल कार पर से हट सकता है। वहीं, दुर्घटना भी हो सकती है। अतः, यथासंभव शांत दिमाग से ड्राइविंग करनी चाहिए।

9 आवश्यक ट्रिक्स जो हर कार मालिक को पता होना चाहिए

स्पीड:-

शुरुआती दिनों में तय व स्लो स्पीड पर ही हमें कार चलाने की कोशिश करनी चाहिए। वहीं, झटके के साथ, अचानक से स्पीड बढ़ाने व कम करने से बचना चाहिए। साथ ही, हमेशा क्लच पेडल पर पैर नहीं रखना चाहिए। क्योंकि इससे क्लच प्लेटस खराब हो सकते हैं। इसलिए जरूरत के मुताबिक ही क्लच का प्रयोग करें।

स्पीड:

यू -टर्न लेना:-

यू -टर्न लेते वक़्त या फिर कार को मोड़ते वक़्त आपको इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि आपकी कार पेड़, खंभे, पोल या, अन्य वाहनों से ना टकराए। इसके लिए, ध्यान से थोड़ी दूरी बनाते हुए; पहले से ही टर्न लेने या कार को मोड़ने की कोशिश करें।

कार टिप्स: कार की माइलेज बढ़ाने के कुछ आसान तरीके

दूरी बनाना:-

इसका मतलब यह है कि अन्य वाहनों से, जोकि हमारे साथ -साथ चल रहे हों; उनसे दूरी बना कर चलना। वहीं, कोई अन्य वाहन ओवरटेक करे तो भी आपको यह ध्यान में रखना चाहिए। ताकि आपकी कार दूसरे वाहनों से टकराने ना पाए। साथ ही, आपके आगे चल रहे वाहन पर भी नज़र बनाए रखनी चाहिए।

रिवर्स करना:-

अपनी कार को बैक या रिवर्स करते वक़्त, व्यू मिरर्स का प्रयोग करना चाहिए। ना कि सिर को बाहर निकालकर देखने के। वहीं, आप मिरर की पोजीशन को एडजस्ट करके, आसानी से बैक व्यू लेकर कार को रिवर्स कर सकते हैं।

स्टियरिंग:-

कार चलाने में स्टीयरिंग व्हील् का अहम रोल होता है। इसलिए, इसके प्रयोग व कंट्रोल पर पूरा ध्यान दें। ताकि कार किस तरफ जा रही है; उस पर आपका पूरा कमांड होना चाहिए।

स्टियरिंग

कार चलाते समय इन जरूरी बातों का जरूर रखें ध्यान

हॉर्न का प्रयोग:-

जरूरत पड़ने पर ही हॉर्न का इस्तेमाल करें। क्योंकि अनावश्यक रूप से इसका प्रयोग; औरों को डिस्टर्ब कर सकता है। वहीं, कुछ खास इमारतों व जगहों पर हॉर्न का प्रयोग वर्जित होता है।

टर्न इन्डिकेटर:-

आपको टर्न इन्डिकेटर का प्रयोग करना भी आना चाहिए। ताकि आपके साथ चल रहे वाहनों को यह समझ में आ जाए कि आप किस तरफ जाना चाह रहे हैं। साथ ही, इससे आपको भी दूसरी साइड टर्न लेने में परेशानी नहीं होगी।

ट्रैफिक नियम:-

आपको कार चलाते वक़्त ट्रैफिक के नियमों का अनुपालन अवश्य करना चाहिए। साथ ही, लाल, पीले व हरे रंगों के सिग्नल क्या संकेत देते हैं। यह भी आपको पता होना चाहिए।

ट्रैफिक नियम

जाहिर है कि इन टिप्स को अपनाकर, आप भी अपनी कार को एक Beginner के तौर पर आसानी से चला पाएंगे।

कार चलाते समय इन 5 सेफ़्टी फीचर्स का रखें खास ध्यान

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. OK Read More