Home कार रिव्यू टाटा टीयागो की गहन समीक्षा

टाटा टीयागो की गहन समीक्षा

by कार डेस्क

टाटा टीयागो, जिसे शुरू में टाटा मोटर्स ने ज़िका के नाम से लांच किया था, निश्चित रूप से कंपनी की सबसे अच्छी कार है अभी तक। कंपनी ने ज़िका (Zica) के नाम को टीयागो के नाम से बदलने का फैसला लिया क्योंकि यह दुर्भाग्य से ‘ज़िका’ (Zika) वायरस जैसा था जो दुनिया भर में फैल रहा है। टाटा टीयागो नाम को एक प्रतियोगिता के बाद चुना गया था जिसे ‘# फ़ैंस्टिकिको नेमहंट’  नामक प्रतियोगिता में आयोजित किया गया था। जिसमें लोगों को 3 सुझावों की सूची से अपने पसंदीदा नए नाम को वोट देना था – टीयागो, आडोर और सिविट।

टीयागो को एक नई सोच के साथ बनाया गया है जो इसे किसी भी अन्य टाटा कार से अलग  दिखता है, जो सही में बहुत ही आकर्षक लग रहा है। टाटा की पारंपरिक सामने का ग्रिल आपको इस में भी देखने को मिलेगा लेकिन कुछ फेरबदल की वजह से यह आधुनिक दिखता है। सामने का ग्रिल और हेडलैंप बहुत अच्छी तरह से डिजाईन किया गया है।

हेडलाम्प की डिजाइनिंग और उसके अंदर का क्रोम जो कि नए तरिके से बनाया गया है। सामने के लुक को महत्व दिया गया है, जो काफी ताज़ा दिखता है। पूरी तरह से कार डिजाइन और निर्माण में टाटा मोटर्स के लिए बड़ी छलांग है। सामने का बम्पर और फौग लैंप बड़े करीने से बनाया गया है।

ऐसा लगता है कि टीयागो को कॉम्पैक्ट कार के रूप में बहुत सावधानीपूर्वक डिजाइन किया गया है।  पीछे का हिस्सा थोड़ा ग्रैंड आई10 की तेरह दिखता है लेकिन पीछे का हैच डोर पे लाइन को काफी अच्छी तरह उभारा गया है। केबिन को अच्छी तरह बनाया गया है और सामग्री की गुणवत्ता में काफी सुधारा गया है।

एसी वेंट को अच्छी तरह से तैयार किया है और बगल का वेंट सामने के यात्रियों को बेहतर एरफलोव प्रदान करता है। एसी वेंट पे बॉडी का रंग इस्तेमाल किया गया है जिसकी वजह से नया लुक मिलता है।

टाटा टीयागो पेट्रोल और डीजल इंजन के विकल्प में उपलब्ध है जिसमे 3 सिलिंडर है। टाटा ने जानबूझकर 3-सिलेंडर इंजन का चयन किया जिससे आदिक औसत मिल सके और कीमतें को भी बहुत आक्रामक रख जा सके। कार में 5 स्पीड मैन्युअल गियर और एएमटी विकल्प उपलब्ध है पर एएमटी सिर्फ टॉप मॉडल (1.2 रेवोट्रोन एक्सज़ेडए) में ही आता है।

आकार के संदर्भ में, टियागो 3746 मिलीमीटर लंबा है जब की सेलेरियो 3,600 मिलीमीटर और ह्युंडई आई10 3600 मिलीमीटर है जो मुख्य रूप से टीयागो के प्रतिद्वंद्वी है। टियागो का व्हीलबेस 2400 मिलीमीटर वहीँ  सेलेरियो का 2425 मिलीमीटर है, हालांकि टाटा टीयागो की 1535 मिलीमीटर ऊंचाई दोनों प्रतिद्वंद्वियों से मामूली कम है।

आश्चर्यजनक रूप से टीयागो का केबिन बड़ा है और यह अच्छी तरह से डिज़ाइन भी किया गया है। केबिन का प्लास्टिक अच्छी क्वालिटी का है और डैशबोर्ड का टेक्सचर फिनिशिंग किसी प्रीमियम हैचबैक का लगता है हलाकि अप को इस तरीके का फिनिश कुछ महंगी कार में नहीं मिलेगा जैसे मारुती बलेनो में। दोहरी रंग का डैशबोर्ड काफी सादा और स्मार्ट लगता है।  पीछे की सीट जगह के साथ साथ काफी आरामदायक है।

1.2 लीटर रेगोट्रॉन पेट्रोल इंजन हल्के एल्यूमीनियम से निर्माण किया है जो 85 PS की पावर और 114 एनएम का टॉर्क पैदा करता है। 1.05 लीटर डीजल इंजन का ब्लॉक कास्ट आयरन और हेड एल्युमीनियम का है जो 95 पीएस की पावर और 140 एनएम का टॉर्क पैदा करता है। नया रेवोरोराकोर डीजल इंजन इंडिका से 1.4 डीजल को छोटा किया गया है और आधुनिक बनाया गया है।

टाटा ने स्पष्ट रूप से अपना दिल और दिमाग को टियागो में डाल है और इसका परिणाम बहुत प्रभावशाली है। और कीमतों को भी काफी आकर्षक रखा गया है। डीजल संस्करण 3.98 – 5.77 लाख (एक्स -शोरूम, दिल्ली) और पेट्रोल संस्करण 3.24 – 5.39 लाख (एक्स -शोरूम, दिल्ली) है। और अब हम स्टार रेटिंग की बात करेंगे:
ऑटोपोर्टल ने 4 स्टार
कारदेखो ने 4.5 स्टार
कारट्रेड ने 3.5 स्टार
मोटर ओस्टाइन ने 3.8 स्टार
जिगव्हील ने 3.8 स्टार
कार एंड बाइक ने 4.3 स्टार
दिया है 5 स्टार में से और अगर हम इनका औसत निकाले तो 4 स्टार आते है और यह रेटिंग किसी भी कार के लिए बहुत अच्छी है।

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. OK Read More