Home राष्ट्रीय न्यूज भारत में रेनॉल्ट ज़ोए विद्युत कार की झलक

भारत में रेनॉल्ट ज़ोए विद्युत कार की झलक

by कार डेस्क
Published: Last Updated on

भारत में रेनॉल्ट ज़ोए विद्युत कार को बंगलौर की सड़कों पर देखा गया था। यह ज्ञात नहीं है कि कार को रेनॉल्ट द्वारा परीक्षण उद्देश्यों के लिए भारत में लाया गया है या यह कारनेट द्वारा निजी आयात की गई है।

ज़ोए यूरोप की सर्वश्रेष्ठ बिकने वाली विद्युत कार है और रेनॉल्ट इंडिया इसे भारतीय कार बाजार में लाने की योजना बना सकती है। इसका कारण यह है कि भारत सरकार कार निर्माताओं को 2030 तक अपनी सभी कारों को विद्युत वाहनों में परिवर्तित करने के लिए जोर दे रही है।

रेनॉल्ट ज़ोए, निसान वी प्लेटफार्म पर आधारित है, और यह वही प्लेटफॉर्म है, जिसपर एक और विद्युत कार – निसान लीफ भी आधारित है। निसान ने यह खुलासा किया है कि भारत में लीफ का परीक्षण शुरू किया जाएगा, ताकि बाजार की प्रतिक्रिया देख सके। रेनॉल्ट, ज़ोए के साथ कुछ ऐसा ही करना का विचार कर सकती है।

ज़ोए को लिथियम आयन बैटरी द्वारा संचालित किया जाता है, जिसकी रेंज 400 किलोमीटर तक है। ऐसी बड़ी रेंज इसे भारतीय बाज़ार के लिए उपयुक्त बनाती है, जहां विद्युत चार्जिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर अभी तक विकसित नहीं हुए हैं। इस तरह की बड़ी रेंज, ज़ोए विद्युत को पेट्रोल चालित हैचबैक के समान अच्छी बनाती है।

कार की विद्युत मोटर 220 पीएस की पीक पावर और 220 एनएम की चोटी टॉर्क का उत्पादन करती है। यह 41 किलोवाट प्रति घंटे की लिथियम आयन बैटरी स्टैक का उपयोग करती है। यह सीवीटी ऑटोमेटिक गियरबॉक्स के साथ फ्रंट व्हील ड्राइव कार है। कार का वजन लगभग 1,470 किलोग्राम है, जो कि इसे हैचबैक के लिए काफी भारी बनाता है, जो की सिर्फ 4.08 मीटर लंबी होती है।

वजन मुख्य रूप से लिथियम आयन बैटरियों के कारण है। अगर रेनॉल्ट की ज़ोए को लॉन्च करने की योजना है, तो कार 2018 इंडियन ऑटो एक्सपो में दिखायी जा सकती है। अभी के लिए, फ्रांसीसी कार निर्माता से कोई आधिकारिक जानकारी नहीं आई है। निसान लीफ़ के भी एक्सपो में प्रदर्शित होने की उम्मीद है।