Home विंटेज कार 50 साल पुरानी विंटेज कारों का होगा रजिस्ट्रेशन, 10 डिजिट वाला मिलेगा नंबर

50 साल पुरानी विंटेज कारों का होगा रजिस्ट्रेशन, 10 डिजिट वाला मिलेगा नंबर

by Mahima Bhatnagar
Published: Last Updated on
Vintage car

अब शहर में 50 साल पुरानी विंटेज कारों का पंजीकरण होने के साथ 10 डिजिट का स्पेशल नंबर भी मिलेगा। केंद्र सरकार ने विंटेज मोटर वाहन से संबंधित सीएमवीआर 1989 में संशोधन के संबंध में आपत्तियां और सुझाव मांगे हैं। चंडीगढ़ के लिए यह बेहद अहम है, क्योंकि शहर में सेक्टर-18 के गवर्नमेंट प्रिंटिंग प्रेस में विंटेज कारों का पहला म्यूजियम भी बनने जा रहा है।

1985 से 1995 तक पसंद की जाने वाली क्लासिक कारें

शहर के लोगों में विंटेज कारों के प्रति काफी लगाव है। हर साल विंटेज कार रैली भी निकाली जाती है। अभी तक विंटेज कारों को कोई स्पेशल नंबर नहीं दिया जाता था। कार अपने पुराने नंबर पर चलती थी। हालांकि, ऐसी कार हर पांच साल बाद प्रशासन के आरएलए से पास करानी पड़ती है, लेकिन सच्चाई यह भी है शहर में कई विंटेज कारें ऐसी हैं, जिन्हें आरएलए की तरफ से पासिंग नहीं मिली है। विंटेज कारें किसी खास मौके पर ही सड़कों पर निकाली जाती हैं, इसलिए इन कारों की पासिंग है या नहीं है, यह पता नहीं चल पाता है, लेकिन अब विंटेज वाहन को एक 10 डिजिट की अल्फा न्यूमेरिक संख्या दी जाएगी। यह पंजीकरण 10 साल के लिए वैध होगा। पंजीकरण चिह्न के प्रारूप में अक्षर ‘सीएच-वीए-एक्सएक्स और चार नंबर’ शामिल होंगे, जिसमें वीए का मतलब विंटेज, एक्सएक्स दो अक्षरों की सीरीज और नंबर, राज्य पंजीकरण विभाग द्वारा 0001 से 9999 तक आवंटित एक संख्या होगी।

भारत की टॉप 5 सर्वाधिक चर्चित क्लासिक और विंटेज कारें

स्पेशल नंबर के लिए करना होगा आवेदन

पंजीकरण के लिए ‘परिवहन’ पोर्टल पर आवेदन करना होगा। नियमों में विंटेज मोटर का ऐसे वाहनों के रूप में वर्णन किया गया है, जो दोपहिया और चार पहिया हैं। पहली बार पंजीकरण की तारीख से 50 साल से ज्यादा पुराने हैं तो उन्हें विंटेज मोटर वाहनों की श्रेणी में शामिल किया जाएगा। केंद्र सरकार के अनुसार आरएलए को एक नोडल अधिकारी नियुक्त करना होगा, जो विंटेज मोटर वाहनों के पंजीकरण के लिए सभी आवेदनों को आगे बढ़ाएगा। इसके अलावा, एक समिति बनानी होगी, जो वाहन का निरीक्षण करेगी और घोषणा करेगी कि क्या वाहन विंटेज मोटर वाहन के तहत पंजीकरण के लिए फिट है। यदि स्वीकृति मिल जाती है, तो संबंधित अधिकारी गाड़ी को पास करेगा।

80 और 90 के दशक की टॉप 7 क्लासिक कारें

पंजीकरण के लिए 20 हजार होगा शुल्क, नई शर्तें भी होंगी

केंद्र सरकार की ओर से तैयार मसौदे के अनुसार विंटेज कार के नए पंजीकरण के लिए 20,000 रुपये और उसके बाद पंजीकरण के लिए 5,000 रुपये का शुल्क निर्धारित किया गया है। यदि एक वाहन विंटेज मोटर वाहन के रूप में पंजीकृत हो जाता है तो ऐसे वाहन की खरीद और बिक्री नियमों के अंतर्गत ही होगी। एक विंटेज मोटर वाहन को सिर्फ प्रदर्शन, तकनीक शोध या एक विंटेज कार रैली में भाग लेने, ईंधन भरवाने और मरम्मत, प्रदर्शनी, विंटेज रैली आदि के लिए ही चलाने की अनुमति दी गई है। इस मसौदे पर अगर कोई आपत्तियां या सुझाव हैं तो शहरवासी इस ईमेल पर director-morth@gov.in पर भेज सकते हैं। गौरतलब है कि विरासत के लिहाज से खासे मूल्यवान इन वाहनों के पंजीकरण की प्रक्रिया को विनियमित करने के लिए वर्तमान में कोई नियम नहीं है। उप नियम 81ए, 81बी, 81सी, 81डी, 81ई, 81एफ, 81जी के रूप में इन नियमों को केंद्रीय मोटर वाहन नियम, 1989 में शामिल करने का प्रस्ताव लाया गया है।

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. OK Read More