Home विंटेज कार निसान एस 30 1969-1978

निसान एस 30 1969-1978

by कार डेस्क
Published: Last Updated on

निसान एस 30 (जो निसान फैयरलेडी जेड के रूप में जापान में और अन्य बाजारों में डैटसन 240ज़ेड के रूप में बेची गई, बाद में 260ज़ेड और 280ज़ेड के रूप मे बेची जाने लगी) जापान की निसान मोटर्स लिमिटेड द्वारा उत्पादित जेड जीटी दो सीट कूपों की पहली पीढ़ी थी।

निसान एस 30 (जो निसान फैयरलेडी जेड के रूप में जापान में और अन्य बाजारों में डैटसन 240ज़ेड के रूप में बेची गई, बाद में 260ज़ेड और 280ज़ेड के रूप मे बेची जाने लगी) जापान की निसान मोटर्स लिमिटेड द्वारा उत्पादित जेड जीटी दो सीट कूपों की पहली पीढ़ी थी। ये 1969 से 1978 तक जापान के निसान मोटर्स लिमिटेड द्वारा निर्मित की जाती थी।

कभी सबसे सफल स्पोर्ट्स कार लाइनों में से एक और अपनी तरह की कारों का  चलन ला देने वाली एस 30 को योशहिको मात्सुओ की अगुआई वाली टीम ने डिज़ाइन किया था। निसान की स्पोर्ट्स कार स्टाइलिंग स्टूडियो के प्रमुख योशहिको मात्सुओ की अगुवाई वाली टीम ने सबसे सफल स्पोर्ट्स कार लाइनों में से एक, एस 30 का निर्माण किया, जिसने एक नया चलन स्थापित किया।

स्थापित यूरोपीय स्पोर्ट्स कारों के साथ प्रतिस्पर्धा करने की मांग करते हुए, डैटसन ने संयुक्त राज्य अमेरिका में 240ज़ेड की कीमत ब्रिटिश एमजीबी-जीटी के 200 डॉलर के बराबर तय की, जिसका डिजाइन पांच साल पुराना था और  उसकी उम्र दिखने लगी थी।

240 ज़ेड  के स्लीक स्टाइल, आधुनिक इंजीनियरिंग, अपेक्षाकृत कम कीमत, और प्रभावशाली प्रदर्शन ने जनता के बीच अपनी जगह बना ली जिसको दोनों, खरीदार और मोटरिंग प्रेस से तत्काल सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली और डीलरों के पास जल्द ही “ज़ेड” के लिए लंबी वेटिंग लिस्ट थी।

एक “हॅलो” कार के रूप में, 240 ज़ेड  ने जापानी कार निर्माताओं की एकोनोबोक्स छवि से परे उनकी स्वीकृति को बढ़ाया। डैटसन के बढ़ते डीलर नेटवर्क ने सीमित उत्पादन वाली आयातित स्पोर्ट्स कार जगुआर, बीएमडब्ल्यू, पॉर्श, अल्फा रोमियो और फिएट, की तुलना मे; इस कार की आसान खरीद और आसान रखरखाव, दोनों को सुनिश्चित किया।

एस 30 के सभी संस्करणों में एक चार-पहिया स्वतंत्र सस्पेंशन होता है जिसमें मैकफर्सन स्ट्रट्स सामने आता है (जो निसान लॉरेल सी 30 से लिया गया है) और बैक में चैपमैन स्ट्रट्स होता है। फ्रंट डिस्क ब्रेक और रियर ड्रम ब्रेक्स इसमे मानक थे।

240ज़ेड  जुड़वां एसयू एक-बैरल साइड-ड्राफ्ट कार्बोरेटर का इस्तेमाल करता था। इन्हें 260 ज़ेड पर बदल दिया गया, जिसमें हिताची एक-बैरल साइड ड्राफ्ट कार्बोरेटर शामिल थे, जो मॉडल वर्ष 1973 से लागू उत्सर्जन नियमों का पालन करने के लिए शुरू हुआ, जिसके परिणामस्वरूप गाड़ी के प्रदर्शन में गिरावट आई। बॉश ने एल-जेटरोनिक इलेक्ट्रॉनिक ईंधन इंजेक्शन को 1975 में यू.एस. 280 ज़ेड में जोड़ा था ताकि वह इसकी क्षतिपूर्ति कर सके।

1975 से 1978 तक, यानि 3 वर्षों तक, अन्य गैर-अमेरिकी बाजारों में, 260 ज़ेड  कूप और 260 ज़ेड  2 + 2 हैचबैक – 2 डोर, 4 सीट मॉडल उपलब्ध थे। एस30 240 बाद के 240 ज़ेड एसएक्स से संबंधित नहीं है, जिसे जापान में सिल्विया के रूप में बेचा जाता था, हालांकि 240 एसएक्स के शुरुआती विज्ञापन में S30 का उल्लेख किया गया था।