Home लेटेस्ट लॉन्च भारत में मर्सिडीज-बेंज अपने मॉडल फेसलिफ्ट का उत्सर्जन परीक्षण कर रही है

भारत में मर्सिडीज-बेंज अपने मॉडल फेसलिफ्ट का उत्सर्जन परीक्षण कर रही है

by कार डेस्क
Published: Last Updated on

मर्सिडीज-बेंज एस-क्लास फेसलिफ्ट, कुछ महीने पहले अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शित की गई थी और 2018 की शुरुआत में भारत में इसके डेब्यू की उम्मीद है। हाल ही में, मर्सिडीज-बेंज एस-क्लास फेसलिफ्ट को मुंबई-पुणे एक्सप्रेसवे पर उत्सर्जन परीक्षण के दौरान देखा गया है।

कार वास्तविक दुनिया के उपयोग उत्सर्जन के लिए परीक्षण कर रही है, जो की नियमित रूप से एआरएआई या ऑटोमोटिव रिसर्च एसोसिएशन ऑफ इंडिया द्वारा आयोजित किया जाता है। इसमें कार के बूट में एक विशेष परीक्षण उपकरण का उपयोग करके राजमार्ग और शहर की सड़कों पर वास्तविक परिस्थितियों में ड्राइविंग करते समय निकास उत्सर्जन को नापते है।

भारत में नई एस-क्लास में रेंज टॉपिंग ट्वीन-टर्बो वी8 के साथ नया इनलाइन 6-सिलेंडर पेट्रोल और डीजल इंजन होगा। एस-क्लास, लंबी व्हीलबेस मेय्बेच के साथ सेडान, कन्वर्टिबल और कूप फॉर्म में अधिक शक्तिशाली एएमजी विकल्प के साथ उपलब्ध होगी।

प्रि फेसलिफ्ट संस्करण की तरह, नई एस-क्लास को भी भारत में ही संकलित किया जाएगा, जिसमें वी8 संचालित लम्बी व्हीलबेस मेय्बेच संस्करण भी शामिल है। संयोग से, जर्मनी के बाहर, चाकण में मर्सिडीज बेंज़ फेक्टरी के अतिरिक्त, अन्य फेसिलिटी पुणे के बाहर है, जहां एस-क्लास मेय्बेच बनती है।

बाहरी हिस्से के संदर्भ में फेसलिफ्टिड कार, प्रि-फेसलिफ्ट से अलग है और इसमें नए हेडलैंप और टेल लैंप के साथ सामने और पीछे का नया बंपर शामिल है। पुरानी कार की तुलना में फेसलिफ्ट एस-क्लास, पहियों के नए सेट के साथ आती है।

एस-क्लास के आंतरिक हिस्से में दो नए 12.3 इंच के हाई डेफिनेशन स्क्रीन है, जो कि इंफोटेंमेंट और केंद्रीय कमांड यूनिट बनते हैं। एस-क्लास, आंतरिक ट्रिम के लिए लकड़ी के विकल्प और सीटों और साइड पैनल के लिए चमड़े के विकल्प के साथ भी आएगी। नए एस-क्लास में ठंडे, गर्म और मालिश विकल्प और नए फ्रेगरेंस फक्शन के साथ नए सीटें भी होंगी।