Home Uncategorized एक्सप्रेसवे पर कारों की अधिकतम गति सीमा 120 किमी प्रति घंटे तक बढ़ी

एक्सप्रेसवे पर कारों की अधिकतम गति सीमा 120 किमी प्रति घंटे तक बढ़ी

by कार डेस्क
Published: Last Updated on

भारत सरकार ने देश की सड़कों पर चार-पहिया और दो-पहिया वाहनों की अधिकतम गति सीमा में संशोधन करके एक नया कानून पारित किया है। इन परिवर्तनों के साथ, कार को 100 किमी प्रति घंटे के बजाय एक्सप्रेसवे पर 120 किमी प्रति घंटे तक की गति से ड्राइव किया जा सकता है। राष्ट्रीय राजमार्गों पर, कारों की गति सीमा 80 किमी प्रति घंटे से 100 किमी प्रति घंटे तक बढ़ा दी गई है।

शहर की सड़कों में, कारों की गति सीमा 50 किमी प्रति घंटे कि बजाय 70 किमी प्रति घंटे हो गई हैं। राजमार्गों पर, दोपहिया वाहन की गति सीमा 60 किमी प्रति घंटे से 80 किमी प्रति घंटे तक बढ़ गई हैं। इसके अतिरिक्त, शहर के अंदर, दोपहिया वाहन को अब 60 किमी प्रति घंटे की गति से ड्राइव किया जा सकता हैं, जिसमें 20 किमी प्रति घंटे की वृद्धि हुई है।

वाणिज्यिक वाहनों जैसे टैक्सियों की एक्सप्रेसवे पर अधिकतम गति 80 किमी प्रति घंटे से 100 किमी प्रति घंटे हो गई है। राजमार्गों के लिए, टैक्सी की अधिकतम गति 90 किमी प्रति घंटा हैं, जो कि पुरानी गति सीमा से लगभग 10 किमी प्रति घंटा अधिक है। शहर के अंदर, टैक्सियों की गति अन्य कारों की तरह 70 किमी प्रति घंटा है।

अधिकतम गति सीमा में ये परिवर्तन केवल एक्सप्रेसवे और राजमार्गों के कुछ वर्गों पर लागू होते हैं। सड़क के मोड़ और दुर्घटना प्रवण वर्गों पर गति प्रतिबंध अपरिवर्तित है। इसी तरह, कस्बों और गांवों से जाने वाली सड़कों और राजमार्गों पर राज्य एजेंसियों द्वारा लागू क्षेत्र-विशिष्ट गति सीमा में कोई बदलाव नहीं है।

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.