Home Uncategorized महिंद्रा ज़ायलो, वेरिटो, वाइब और नूवोस्पोर्ट बंद हो जाएगी?

महिंद्रा ज़ायलो, वेरिटो, वाइब और नूवोस्पोर्ट बंद हो जाएगी?

by कार डेस्क
Published: Last Updated on

महिंद्रा कई कारों को बंद करने की सोच रही है। वेरिटो सेडान, वेरिटो वाइब नॉचबैक, ज़ायलो एमपीवी और नूवोस्पोर्ट उप-4 मीटर कॉम्पैक्ट एसयूवी ऐसे चार वाहन हैं, जो कि महिंद्रा अगले 18-24 महीनों में भारत में बंद कर देगी।

भारतीय उपयोगिता वाहन के दिग्गज निर्माता, इन उत्पादों को सिर्फ खराब बिक्री के कारण बंद नहीं कर रहे हैं। बल्कि इसका अन्य कारण यह भी है कि इन वाहनों को नए सुरक्षा मानदंडों और भारत स्टेज 6 उत्सर्जन मानदंडों के अनुरुप बनाने के लिए इनमें पर्याप्त मात्रा में पैसा भी खर्च करना होगा। भारत स्टेज 6 उत्सर्जन मानदंड, अप्रैल 2020 से लागू हो जाएगी। स्पष्ट रूप से, इन्हें बंद करना सस्ता और बेहतर विकल्प है।

महिंद्रा द्वारा बंद किए जाने वाले सटीक वाहनों को इंगित किए बिना, ऑटोमेकर के एमडी, डॉ पवन गोयनका ने कहा, “हमारे सभी उत्पादों को हमें बीएस-6 के अनुरुप बनाना होगा। हम पहले ही कुछ उत्पादों को बंद करने का निर्णय ले चुके हैं। और हमें उन सभी सुरक्षा नियमों में निवेश करना होगा, जो कि आ रहे हैं और इसलिए उन क्षेत्रों में निवेश की कोई जरुरत नहीं है।”

ज़ायलो को टीयूवी300 प्लस, बॉडी-ऑन-लेडर एमयूवी द्वारा प्रतिस्थापित करने की उम्मीद है, जो की पहले से ही भारत में टेस्ट लॉन्च की गई है। टीयूवी300 प्लस, उप-4 मीटर टीयूवी300 कॉम्पैक्ट एसयूवी पर आधारित है, लेकिन यह बड़ा 2.0 लीटर एमहॉक टर्बोचार्ज डीजल इंजन का उपयोग करती है। टीयूवी300 प्लस अधिक लंबी है, और यह 9 यात्रियों तक समायोजित कर सकती है।

वेरिटो वाइब, महिंद्रा की सबसे कम बिकने वाली कारों में से एक रही है, इसलिए इसे बंद करने का निर्णय सही है। वेरिटो की बिक्री भी अब कम हो गई है। महिंद्रा केवल कार के विद्युत वेरिएंट का निर्माण जारी रख सकती है, जिसे ईवेरिटो के नाम से जाना जाता है।

नूवोस्पोर्ट भी ब्रांड के लिए फ्लॉप मॉडल रही है। यद्यपि यह टीयूवी300 के साथ अपना प्लेटफॉर्म शेयर करती है, लेकिन नूवोस्पोर्ट को भारतीय बाज़ार में किसी ने भी पसंद नहीं किया, जब इसे क्वांटो बैज़ के साथ बेचा गया था।