Home Uncategorized लेक्सस भारत में विनिर्माण इकाई स्थापित कर सकती है

लेक्सस भारत में विनिर्माण इकाई स्थापित कर सकती है

by कार डेस्क
Published: Last Updated on

प्रीमियम लक्जरी कार ब्रांड, लेक्सस अपनी इंडिया-स्पेक कारों को स्थानीय रुप से संकलित करने पर विचार कर रही है। अगर सब कुछ ठीक हुआ, तो ऑटोमेकर देश में असेम्बली प्लांट स्थापित कर सकती है। अपने उत्पादों को स्थानीय रुप से संकलित करने के साथ, लेक्सस अपने प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ प्रतिस्पर्धी मूल्य पर लक्जरी कारों को बेचने में सक्षम हो जाएगी।

वर्तमान में लेक्सस घरेलू बाजार में तीन अलग-अलग मॉडल बेचती है, जो कि आरएक्स 450एच क्रॉसओवर, ईएस300एच सेडान और एलएक्स 450डी एसयूवी हैं। ये तीनों कारें आयात की जाती हैं और पूरी तरह से निर्मित इकाइयों (सीबीयू) के रूप में बिकती हैं और इस तरह इसमें 100% आयात शुल्क लगता है। सीकेडी इकाइयों को आयात करके और स्थानीय स्तर पर संकलित करके, लेक्सस कर को 70% तक कम करने में सक्षम होगी, जिसके परिणामस्वरूप काफी कम मूल्य निर्धारण हो सकता है।

भारतीय बाजार में प्रीमियम लक्जरी कारों की बढ़ती मांग को ध्यान में रखते हुए लेक्सस यहां अधिक शेयर प्राप्त करने पर विचार कर रही है। इस लक्ष्य को प्राप्त करने के प्रयास में, ऑटोमेकर घरेलू क्षेत्र में नए उत्पादों को लॉन्च करने पर ध्यान केंद्रित कर रही है।

यह विद्युत पॉवरट्रेन द्वारा संचालित देश में अधिक कार लाने पर ध्यान केंद्रित कर रही है। इसके अलावा, ब्रांड भविष्य में कॉम्पैक्ट मॉडल भी ला सकती है। इसके अलावा, टोयोटा की स्वामित्व वाली लक्जरी कार ब्रांड अपनी डीलरशिप को भी विस्तारित करने के लिए तैयार हो रही है।

वर्तमान में इसके डीलरशिप देश के चार प्रमुख शहरों में है। ये नई दिल्ली, गुड़गांव, बैंगलोर और मुंबई हैं। हम उम्मीद कर सकते हैं कि ब्रांड जल्द ही पूरे देश में अधिक डीलरशिप लॉन्च करेगी।

लेक्सस यहां अपने कारोबार को बढ़ाने पर ध्यान दे रही है। उस रणनीति के हिस्से के रूप में, ऑटोमेकर अपने संगठन का पुनर्गठन कर रही है और यही वजह है कि कंपनी ने घरेलू संचालन शाखा लेक्सस इंडिया का निर्माण किया है, जो की टोयोटा से स्वतंत्र रूप से काम करेगी।

लेक्सस ने चल रहे टोक्यो मोटर शो में अपनी नई एलएस+ कंसेप्ट का अनावरण किया है, जो कि इसके भविष्य के प्रमुख सेडान और हाइवे टीममेट सहित आगामी उन्नत ऑटोनोमस ड्राइविंग टेक्नोलॉजी का पूर्वावलोकन करता है, जिसकी 2020 में पहली बार डेब्यु करने की उम्मीद है।