Home लेटेस्ट लॉन्च भारत-बाध्य 2018 जीप रैनेगेड फेसलिफ्ट, परिक्षण करते हुए दिखाई दी

भारत-बाध्य 2018 जीप रैनेगेड फेसलिफ्ट, परिक्षण करते हुए दिखाई दी

by कार डेस्क
Published: Last Updated on

आगामी 2018 जीप रैनेगेड फेसलिफ्ट को पहली बार परिक्षण करते हुए देखा गया है। तस्वीरों में आगामी एसयूवी के विजुअल, टेक्नोलॉजिकल और मैकेनिकल अपडेट दिखाई दिए है। जीप रैनेगेड को 2014 में जिनेवा मोटर शो में देखा गया था। यद्यपि रैनेगेड के सामने और पीछे कि हिस्से को भारी छलावरण दे छिपाया गया है।

लॉन्च तिथि

2018 जीप रैनेगेड फेसलिफ्ट की बिक्री अगले साल से ही दुनिया के कुछ हिस्सों में शुरू हो सकती है। जीप की 2019 में भारत में रैनेगेड को पेश करने की योजना है। रैनेगेड का निर्माण स्थानीय रूप से रंजगांव प्लांट में किया जाएगा।

भारत-विशिष्ट मॉडल में 1.4 लीटर मल्टीएयर टर्बोचार्ज इंजन और 1.6 लीटर मल्टीजेट टर्बोचार्ज डीजल इंजन की सुविधा होगी। शुरु में केवल फ्रंट व्हील ड्राइव वेरिएंट पेशकश पर होंगे, उसके बाद एडब्ल्यूडी संस्करण आएंगे।

विशेष विवरण

वर्तमान जीप रैनेगेड में विभिन्न प्रकार के पेट्रोल और डीजल इंजन मौजूद है, जिनके विस्थापन 1.4 – 2.4 लीटर के बीच है। उन्नत दक्षता के अलावा, इंजन से संबंधित अन्य संशोधनों की जानकारी अभी उपलब्ध नहीं हैं। अगर रिपोर्टों की माने, तो रैनेगेड फेसलिफ्ट, 2018 जीप रैंगलर की तरह नया 2.0-लीटर टर्बोचार्ज्ड पेट्रोल इंजन का उपयोग कर सकती है।

बाहरी डिजाइन

2018 जीप रैनेगेड फेसलिफ्ट में सौंदर्यशास्त्र, तकनीकी और यांत्रिक परिवर्तन किए जाएंगे। इन परिवर्तनों के परिणामस्वरूप, यह नई, अधिक उन्नत और आधुनिक होगी। तस्वीरों से यह लगता है की परिवर्तन केवल एसयूवी के सामने और पीछे के हिस्से तक ही सीमित होंगे।

सामने के हिस्से में नवनिर्मित ग्रिल और संशोधित बम्पर होगा। हेडलाइट्स की अपडेटेड आकृति भी होगी। पीछे के भाग में छलावरण के बावजूद, प्लास्टिक पार्ट्स, वर्तमान मॉडल की तुलना में अलग दिख रहे हैं। इग्जॉस्त के भी संशोधित होने की उम्मीद है। उम्मीद है की जीप, रैनेगेड फेसलिफ्ट पर भी नए बॉडी रंग की पेशकश करेगी। लॉन्च होने पर टेल लैंप में नए ग्राफिक्स भी होंगेI

आंतरिक हिस्सा

आंतरिक हिस्से में यूकनेक्ट इंफोटेंमेंट सिस्टम के नवीनतम पीढ़ी, नए अपहोल्सट्री विकल्प और अंदरूनी हिस्से के लिए नए रंग भी हो सकते है। व्यावहारिकता और दक्षता में सुधार लाने के लिए यांत्रिक परिवर्तन किए जाएंगे।