Home रोचक तथ्य विश्व-प्रथम सुविधा – गूगल मेप ने भारत में ‘टू व्हीलर मोड’ शुरु किया

विश्व-प्रथम सुविधा – गूगल मेप ने भारत में ‘टू व्हीलर मोड’ शुरु किया

by कार डेस्क

गूगल मेप, एक नेविगेशन ऐप है, जो की लगभग सभी लोग अपने स्मार्टफोन के द्वारा एक स्थान से दुसरे स्थान पर जल्दी और कुशलता से पहुँचने के लिए उपयोग करते है। भारत में गूगल मेप के नेविगेशन फक्शन, केवल कार मोड में ही उपलब्ध था। अब, गूगल मैप्स ने भारत-विशिष्ट सुविधा – टू व्हीलर मोड को शुरू किया है।

वर्तमान में, यह मोड दुनिया में कहीं और उपलब्ध नहीं है, और इसे विशेष रूप से भारतीय बाजार के लिए बनाया गया है। आने वाले महीनों और वर्षों में, दुनिया भर के अधिक देशों – जिनमें टू व्हीलर की आबादी है – को यह मोड मिलेगा। इसके वियतनाम, थाईलैंड, लाओस आदि जैसे देशों में शुरू होने की उम्मीद है।

गूगल मेप पर टू व्हीलर मोड उन मार्ग को दिखाएगा, जो कि केवल दो पहिया वाहनों द्वारा ही पहुंचने योग्य हैं। टू-व्हीलर मोड पर दिखाए गए सड़कों में से कई, कारों के लिए बहुत अधिक संकीर्ण होंगे। यह मोड टू-व्हीलर उपयोगकर्ताओं को अपने मंजिल पर जल्दी से पहुंचाने में मदद करेगी, और यह शॉर्ट-कट का भी इस्तेमाल कर सकती है, जो की कारें नहीं कर सकती हैं।

बीटा टेस्टर्स के लिए यह मोड कुछ हफ्ते पहले सॉफ्ट-लॉन्च किया गया था। अब हालांकि, यह भारत में गूगल मेप का उपयोग करने वाले सभी लोगों के लिए उपलब्ध है। अगर आपके पास अपने स्मार्टफ़ोन पर गूगल मेप नहीं है, तो आप इसे प्लेस्टोर (एंड्रॉइड उपयोगकर्ता) और ऐप स्टोर (ऐप्पल आईओएस) से मुफ्त में डाउनलोड कर सकते हैं।

ध्यान दें कि गूगल मेप में टू व्हीलर मोड बहुत नया है। इसलिए, आपको टू व्हीलर मोड में वन-वे, बंद सड़कें आदि जैसे कई गलत सुझाव मिल सकते हैं। समय के साथ, गूगल गलत सुझावों को हटा देगा। आप नेविगेशन ऐप के माध्यम से मार्गों के लिए भी फीडबैक दे सकते हैं। तब तक, इसपर पूरी तरह से भरोसा मत करो। अपने आस-पास के इलाके को ध्यान से देखे और तदनुसार सवारी करें। जब संदेह होता है, तो लोगों से मार्ग के बारे में पूछें।