Home रोचक तथ्य 2015 की पांच सबसे अधिक ईंधन औसत वाली कारें।

2015 की पांच सबसे अधिक ईंधन औसत वाली कारें।

by कार डेस्क
Published: Last Updated on

कार खरीदने से पहले सबसे महत्वपूर्ण कारकों में से एक है दक्षता, कार निर्माता अपनी कारों की दक्षता के आंकड़ों को बढाने के लिए रचनात्मक विचारों को उपयोग में ला रहे हैं।

हमने 2015 में लॉंच हुई सबसे कुशल औसत वाली कारों की सूची तैयार की है जो इस प्रकार है –

  1. मारुति सुजुकी सेलेरियो डीजल : मारूति सुज़ुकी ने पिछले साल सेलेरियो को केवल पेट्रोल के रूप में लॉंच किया था ।  हालांकि डीजल संस्करण लाने में मारूति ने कुछ ज्यादा ही वक्त लिया पर इसने यह सुनिश्चित किया था कि यह देश की सबसे कुशल औसत वाली कार हो। सेलेरियो डीजल में एक पूर्ण रूप से नया इंजन है जो खास तौर पर भारतीय बाज़ार के लिए विकसित किया गया है। 793cc का इंजन  47.6 PS और 125 एनएम टॉर्क उत्पन्न करता है । एक सिलेंडर को कम करने के साथ, केवल एल्यूमीनियम ब्लॉक का उपयोग करके, मानेसर आधारित कार निर्माता ने इसके वजन को 830 किलोग्राम तक रखने को कहा है। इसकी तत्काल प्रतियोगी में 1,027 किलोग्राम की बीट डीजल है। 27.62 किलोमीटर प्रति लीटर की ईंधन दक्षता प्रदान करने वाली सेलेरियो डीजल को 2015 की सबसे कुशल औसत वाली कारों में रखा गया है।
  2. होंडा जैज़ और मारूति सुज़ुकी बैलेनो : 2015 की सबसे कुशल औसत वाली कारों में दूसरे स्थान पर होंडा जैज़ और मारुति सुज़ुकी बलेनो है। सेलेरिओ डीजल की तरह, मारुति सुज़ुकी ने बैलेनो के लिए भी वही फिलॉस्फी अपनाई है। एक प्रीमियम हैच होने के बावजूद इसका भार एक टन के अंदर ही सीमित है। बैलेनो भरोसेमंद 1.3 लीटर डीडीआइएस इकाई से 27.3 किलोमीटर प्रति लीटर की दक्षता प्रदान करती है। होंडा ने जैज़ में 6 गति वाला गीयर बॉक्स लगाया है जो बहुत अच्छी दक्षता प्रदान करता है।
  3. फोर्ड फिगो : जहाँ मारुति सुज़ुकी और होंडा अधिक दक्षता वाली कार लाने के लिए प्रतिद्वंदित हैं वहीं फोर्ड ने भी फिगो हैचबैग को लाकर चौंका दिया है। फोर्ड फिगो डीजल को 1.5 लीटर के 4 सिलेंडर मिल के साथ स्थापित किया गया है। यह इकाई 100 पीएस/215 एनएम बनाती है और इसमें 5 गति वाला मैनुअल सिस्ट्म है । देश में सबसे शक्तिशाली डीजल हैचबैक में होने के बावजूद फिगो अपने आप में एक अभूतपूर्व उप्लब्धि है, जो एआरएआई (ARAI) दर्जित 25.83 किलोमीटर प्रति लीटर का दावा करता है।
  4. रेनॉल्ट क्विड: अगर आप आंकड़ों को एक तरफ छोड़ देते हैं तो रेनॉल्ट क्विड को सेलेरियो डीजल के साथ शीर्ष पर खड़ा होना चाहिए था। कारण? यह केवल पेट्रोल संस्करण में आता है इसके बावजूद इसने 25.17 किलोमीटर प्रति लीटर का दावा किया है। पूरी तरह से एल्यूमीनियम इंजन का उपयोग करने से रेनॉल्ट ने यह सुनिश्चित किया है कि क्विड काफी हल्का रहे । चार के बदले केवल तीन लग नट और ऊपर में एक वाइपर ब्लेड का प्रयोग किया गया है। इन सब कारणों से रेनॉल्ट क्विड के वजन को 660 किलोग्राम तक रखने में कामयाब रहा है।
  5. मारुति सुज़ुकी अर्टिगा एसएचवीएसमारुति सुजुकी अत्यंत कुशल औसत वाली कारों के उत्पादन के लिए जाना जाता है। अर्टिगा एसएचवीएस इस सूची में तीसरी कार है जो इस बात को सही साबित करती है। हालांकि अर्टिगा के लिए उन्होंने एक अलग दृष्टिकोण अपनाया है। 1.3 लीटर डीजल अर्टिगा एसएचवीएस (सुज़ुकी द्वारा स्मार्ट हाइब्रिड वेहिकल) सियाज़ की तरह है। यह शुरु/रोक टेक्नोलोजी सुविधा के लिए सबसे सस्ती कार है। इस सुविधा के वजह से अर्टिगा, 20.77 कि.मी प्रति ली. दक्षता प्रदान करने वाले गैर- एसएचवीएस मॉडल की तुलना में 24.52 कि.मी. पर ली. की दक्षता प्रदान करने का दावा करने वाली एसएचवीएस मॉडल है।

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.