Home इंटरनेशनल न्यूज अर्जेंटीना को जीएम की पहली निर्यात कार – शेवरलेट बीट

अर्जेंटीना को जीएम की पहली निर्यात कार – शेवरलेट बीट

by कार डेस्क
Published: Last Updated on

जेनरल मोटर इंडिया ने आज ये घोषणा की है आज उसने अपनी पहली गाड़ी अर्जेंटीना में निर्यात के लिए निकाल ली है। इसका निर्यात अगले महीने होने की बात है।

जेनरल मोटर इंडिया ने आज ये घोषणा की है आज उसने अपनी पहली गाड़ी अर्जेंटीना में निर्यात के लिए निकाल ली है। इसका निर्यात अगले महीने होने की बात है। अर्जेंटीना जेनरल मोटर के लिए छठा सबसे बड़ा निर्याती बाजार होगा।

2015 के अक्टूबर में उन्होंने पहली बार अपने 3000 शेवरलेट बीट मेक्सिको में निर्यात किये थे। इसके अलावा वह अपने बायीं हाथ के चालाक के सीटों वाली गाड़ियां चिली, पेरू, उरुगुए, मध्य अमरीका तथा कॅरीबीयन देशों में पहले से ही निर्यात करता है।

शेवरलेट बीट निर्यात होने वाली यात्री वाही गाड़ियों में से सबसे ज़्यादा बढ़त हासिल करने वाली गाड़ी मानी गयी और उसे 2015-16 में छठी सबसे ज़्यादा निर्यात होने वाली गाड़ी भी मानी गयी जिसने कुल 37,082 इकाइयां निर्यात की। ।

ये फरवरी में फोर्ड इकोस्पोर्ट और निसान माइक्रा के बाद तीसरी सबसे ज़्यादा निर्यात होने वाली गाड़ी भी बनी। इस बारे में बात करते हुए जेनरल मोटर इंडिया के प्रेजिडेंट और एम डी कहर कजेम ने कहा कि “मेक इन इंडिया” के निर्देश पर चलते हुए आज हमने अर्जेंटीना भेजने के लिए अपनी पहली गाड़ी तलेगांव प्लांट में बना ली है। ये नया निर्यात का बाजार हमारे संकल्प और निष्ठा को दर्शाता है। बीट जिसे की विदेशों में स्पार्क के नाम से जाना जाता है, 70 से ज़्यादा बाज़ारों में 1 मिलियन इकाइयों से भी ज़्यादा बिक चूका है।

बीट का निर्माण महाराष्ट्र के तलेगांव प्लांट में होता है जिसकी क्षमता 1,30,000 इकाइयों की है। जनरल मोटर्स ने पहला भारत से पहला निर्यात 2014 में चिली में किया था। उनकी इच्छा है की वे इस साल 21,000 इकाइयों की जगह 50,000 इकाइयों का निर्यात करे ताकि देश में उनके सहयोगियों को भी लाभ हो सके।

वे चाहते है की भारत निर्यातों का एक विशेष हिस्सा बने। तलेगांव प्लांट में हुई 30 फीसदी निर्माण निर्यात के लिए किया जाएगा ताकि भारत को गाड़ियों के निर्यात में मुख्या गिना जा सके।

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.