Home और भी अधिक भारत में जनवरी 2021 से PUC प्रमाणपत्र के बिना वाहन नहीं चला सकते

भारत में जनवरी 2021 से PUC प्रमाणपत्र के बिना वाहन नहीं चला सकते

by Rachna Jha
Published: Last Updated on
Cannot drive without PUC certificate

हम आपको बताने वाले हैं PUC सर्टिफिकेट के बारे में। जिसके बिना आपका वाहन चलाना जनवरी 2021 से मुश्किल हो सकता है। वहीं आपकी RC भी रद्द हो सकती है। तो चलिए, जानकारी लें:-

भारत में निर्मित हुई FERRARI रेप्लिका

PUC:-

प्रदूषण नियंत्रण प्रमाणपत्र अर्थात Pollution Under Control Certificate का नवनीकृत (अपडेट) होना; अब और भी ज्यादा अनिवार्य हो गया है। वहीं, हमलोग इस बात को गंभीरता से नहीं लेते हैं। पर, आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस संदर्भ में नए सख्त नियम बना दिए गए हैं। जिसके तहत PUC प्रमाणपत्र के नवनीकृत ना होने कि स्थिति में, हमारे वाहन के पंजीकरण प्रमाणपत्र (RC) को ज़ब्त कर लिया जा सकता है। संभवतः यह नए नियम जनवरी 2021 से लागू हो जाएं।

कार टिप्स: कार की माइलेज बढ़ाने के कुछ आसान तरीके

नए नियम:-

इसके अंतर्गत वाहन के सभी मालिकों(Owners) की जानकारी; एक मोटर डाटाबेस से जुड़ी रहेगी। यानि कि सारी जानकारी उन सर्वरों पर अपलोड रहेगी। वहीं निर्धारित समय के अंदर ही PUC प्रमाणपत्र को नवनीकृत करने के लिए सात दिनों का वक़्त दिया जाएगा। इस दौरान वैलिड सर्टिफिकेट ना मिलने की स्थिति में, हमारा RC भी रद्द हो सकता है।

2020 महिंद्रा थार के कीमत में हुई बढ़ोतरी, जानें इसकी खूबियाँ

प्रदूषण नियंत्रण:-

यह सारे नियम AQI अर्थात Air Quality Index को नियंत्रित करने के लिए लागू किए जाएंगे। AQI यह मापता है कि वायु प्रदूषण किसी भी व्यक्ति के स्वास्थ्य को कम समय में कैसे प्रभावित करता है। जैसा कि हम सब जानते हैं हमारे शहर व उसके आस-पास की एयर क्वालिटी इंडेक्स पहले से ही खराब श्रेणी में रखी जाती रही है। इसलिए इस नए नियम से प्रदूषण में अवश्य ही नियंत्रण हो सकता है।   

NISSAN MAGNITE SUV हुई लॉन्च

AQI:- 

यह AQI शून्य से 50 के बीच अच्छी मानी जाती है; 51 व 100 के बीच को संतोषजनक; 101 से 200 के बीच को मध्यम; 201 से 300 के बीच को खराब; 301 से 400 के बीच को बहुत खराब व 401 से 500 के बीच को गंभीर मानी जाती है। वहीं वाहनों की बढ़ती संख्या, कृषि उत्पादों के अवशेषों से जलाए गए धुएं, आदि हैं। इसलिए वाहन उत्सर्जन के कारण प्रदूषण, खराब वायु गुणवत्ता में इजाफा करता है। अतः, प्रत्येक वाहन ओनर्स को इस नियम का अनुपालन अवश्य करना चाहिए। ताकि, वायु कि गुणवत्ता में सुधार हो सके।

जाहिर है कि कुछ सामान्य-सी प्रक्रियाओं के बाद, हम अपनी PUC सर्टिफिकेट को नवनीकृत रख सकते हैं व नए नियमों का सही अनुपालन भी कर सकते हैं। उम्मीद है कि यह जानकारी आपके जरूर काम आएगी।  

You may also like

Leave a Comment

* By using this form you agree with the storage and handling of your data by this website.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. OK Read More